फरवरी 2019 के महीने  की सलाह

समयसेलगाईपछेतीखरीफप्याजएवंलहसुनफसलकीनिकासीइसमहीनेमेंशुरूहोसकतीहै।जबकि,रबीतथाबीजउत्पादनहेतुलगाईप्याजकीफसलऔर2-3 महीनोंतकखेतमेंरहेगी।इनपरिस्थितियोंमेंनिम्नलिखितसलाहकापालनकियाजानाचाहिए।

. प्याजकीपछेतीखरीफफसलकेलिए

1.    तोरवालेकंददिखाईदेनेपरऐसेकंदोकीनिकासीतुरन्तकरें।कंदफसलमेंतोरबीजउत्पादनहेतुलगाईप्याजकीफसलकीशुध्दताखराबकरसकतीहै।

2.    कीटनाशक / फफुंदनाशक का छिड़काव प्याज निकालने से 20 दिन पहले बंद करें।

3.    रोपाई के 105 दिनों के बाद सिंचाई बंद कर देना चाहिए।

4.    लगभग 50 प्रतिशतप्याजमेंगर्दनगिरनेपरप्याजनिकालनाचाहिए।

5.    प्याजकोउखाड़नेकेबादउन्हेंपत्तियोंसमेत 3 दिनतकखेतमेंरखकरसुखानाचाहिए, जिससेकंदशुष्कहोंगेऔरउनकीजीवनावधिबढ़जाएगी।

6.    उसकेपश्चात 2 से 2.5 सें.मी. गर्दनछोड़करप्याजकाऊपरीहिस्साकाटदेनाचाहिए, जिससेकिबेहतरभंड़ारण होगा।

.प्याजकीरबीफसलकेलिए

1.    थ्रिप्स / पर्णीयरोगोंद्वारफसलपरनुकसानकेलक्षणदिखाईदेनेपरप्रोफेनोफॉस (1 मि.लि./ली.) तथाहेक्साकोनाज़ोल (1 ग्रा./ली.) केछिड़कावकीसिफारिशकीगईहै।

2.    अगरप्रोफेनोफॉस (1 मि.लि./ली.) औरहेक्साकोनाज़ोल (1 ग्रा./ली.) काछिड़कावपहलेसेकियागयाहो, तबफिप्रोनील(1 मि.लि./ली.) तथाप्रापिकोनाज़ोल(1 ग्रा./ली.) कोमिलाकरपहलेछिड़कावकेपंद्रहदिनबादजरूरतकेअनुसारछिड़कावकरनेकीसिफारिशकीगईहै।

3.    रोपाईके 30 एवं 45 दिनोंकेबाद 35 कि.ग्रा./हे. त्रजनदियाजाए।

4.    रोपाईके 40-60 दिनोंकेबादहाथसेखरपतवारनिकालें।

5.    रोपाई के 45 एवं 60 दिनों के बाद पत्तियों पर 5 ग्रा./ली. की मात्रामेंसूक्ष्मपोषकतत्वोंकेमिश्रणकेछिड़कावकीसिफारिशकीगईहै।

6.    फसलकीसिंचाईआवश्यकताकेअनुसारसमय - समयपरकीजानीचाहिए।

. लहसुनकीफसलकेलिए

1.    लाल मकड़ी घुन का प्रकोप दिखाई देने पर मौलिकगंधक (2 ग्रा./ ली.) कापत्तियोंपरछिड़कावकरें।

2.    गंधककेछिड़कावके 15 दिनोंकेबादडायकोफॉल(2 मि.लि./ली.) काआवश्यकताकेअनुसारलाल मकड़ी घुन के नियंत्रणकेलिएछिड़कावकीसिफारिशकीगईहै।

3.    रोगएवंकीटप्रंबधनकेलिएकार्बोसल्फान (2 मि.लि./ली.) तथा ट्राईसायक्लोज़ोल(1 ग्रा./ली.) कोमिलाकरआवश्यकताकेअनुसारछिड़कावकरनेकीसिफारिशकीगईहै।

4.    पहलेछिड़कावकेपंद्रहदिनोंकेबादजरूरतहोनेपरप्रोफेनोफॉस(1 मि.लि./ली.) तथा हेक्साकोनाज़ोल (1 ग्रा./ली.) कोमिलाकरछिड़कावकरें।

5.    अगर फिर भी आवश्यकता हो, तबफिप्रोनील(1 मि.लि./ली.)तथाप्रोपिकोनाज़ोल(1 ग्रा./ली.) कोमिलाकरपिछलेछिड़कावकेपंद्रहदिनोंकेबादछिड़कावकियाजासकताहै।

6.    लहसुननिकालनेके 20 दिनपहलेकीटनाशक / फफुंदनाशककाछिड़कावकरनाबंदकरें।

7.    लगभग 50 प्रतिशतपत्तियोंकेसुखनेपरलहसुननिकालनाशुरूकरनाचाहिए।

8.    लहसुनकेकंदपत्तियोंसमेतपौधकोखींचकरनिकालनेचाहिए।

9.    निकालनेकेबादलहसुनकेकंदपत्तियोंसमेत 2-3 दिनोंतकखेतमेंहीसुखाएंताकिभंड़ारण के दौरान सूक्ष्मजीवतथाकवकसंक्रमणद्वाराकमनुकसानहोऔरभण्डारणकालबढ़ाया जा सके।

. बीजउत्पादनहेतुप्याजकीफसलकेलिए

1.    फूल आने के बाद रसायनों का छिड़कावकरनापरागणकेलिएहानिकारकहै।

2.    यदिबहुतजरूरीहो, तोखरपतवारहाथसेनिकालें।खरपतवारनिकालतेसमयपुष्पडंडियोंकोनुकसाननपहुंचेइसकाखयालरखें।

3.    मधुमक्खियों की संख्या कम होने पर प्रति एकड़ 1-2 मधुमक्खियों की पेटियां खेत में रखनी चाहिए।

4.    आवश्यकता के अनुसार फसल में सिंचाई करनी चाहिए।

 

टिप्पणी:कार्बोसल्फान,प्रोफेनोफॉस,फिप्रोनीलएवंडायकोफॉलकाप्रयोगथ्रिप्सद्वाराफसलपरनुकसानकेलक्षणदिखाईदेनेपरहीकरें।मैन्कोज़ेब, हेक्साकोनाज़ोल,प्रोपिकोनाज़ोल,एवंट्राईसायक्लोज़ोलकाप्रयोगरोगकेलक्षणदिखाईदेनेपरहीकरें।