रोपाई
            रोपाई के लिए पौध का चयन करते समय ऊचित ध्यान रखना चाहिए। कम और अधिक आयु के पौध रोपाई के लिए नहीं लेने चाहिए। रोपाई के समय पौध के शीर्ष का एक तिहाई भाग काट देना चाहिए जिससे उनकी अच्छी स्थापना हो सके। प्याज की पौध स्थापना के दौरान फफूंदी संबंधी रोगों की घटनाओं को कम करने के लिए पौध की जड़ों कों कार्बेण्डाज़िम घोल (0.1%) में दो घंटें के लिए डूबाने के बाद रोपित किया जाना चाहिए। रोपाई के समय पंक्तियों के बीच 15 सें.मी. और पौधों के बीच 10 सें.मी. इष्टतम अंतर होना चाहिए।

   

  अतिरिक्त जल निस्सारण के लिए निकास नाली